learns a2z , learn atoz current affairs  test quiz gk in hindi english  job alert career

  • CURRENT AFFAIRS
  • PROGRAMMING
  • _C PROGRAMMING HINDI
  • _C PLUS PLUS HINDI
  • _SOFTWARE ENGINEERING
  • GI&REASONING
  • HTMLINHINDIAPP

VISUAL BASIC 6.0 in hindi, vb 6.0 programs, vb 6.0 complete tutorial

Visual basic 6.0, visual basic language और environment का परिचय , आप इस क्लास में सीखने वाले हो कैसे visual basic में एप्लीकेशन बनाये जाते है आप यहाँ पर एक नई vocabulary एक नई प्रोग्रामिंग अप्रोच को सीखने वाले हो और  visual basic environment को सीखने का रास्ते में हो और visual basic में अपना पहला program बनाना चाहते हो तो चलिए आगे बढ़ते है |, हमारी इस लम्बी क्लास का objectives क्या ये अब आपको बताने वाले है :>, 1) आप यहाँ  microsoft visual basic 6.0 को विंडोज के लिए एप्लीकेशन टूल के रूप में  क्या  फायदे समझने वाले हो  , 2) visual basic टूलबॉक्स  के यूज़ के बारे में जानने वाले हो , 3) visual basic एप्लीकेशन के   designing, implementing, और distributing के बारे में जानने वाले हो , 4) visual basic के  event-driven प्रोग्रामिंग  concepts, terminology, और उपलब्ध टूल्स के बारे में समझने वाले हो , 5)ऑब्जेक्ट की प्रोपर्टीज को modify करना , 6)ऑब्जेक्ट मेथोड्स को सीखने वाले हो , 7)मेनू डिजाईन विंडो का प्रयोग जानने वाले हो , 8) विसुअल बेसिक के   proper debugging और error-handling प्रक्रिया को समझने वाले हो , 9)databound controls के प्रयोग से  database access और  management के बारे में बैसिक से समझने वाले हो,  10) activex controls और विंडोज एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस या api के बारे में जानने वाले हो , visual basic programming भाषा क्यों सीखें =>, 1) क्योकि विंडोज यूजर इंटरफ़ेस के लिए प्रोग्रामिंग करना बहुत ज्यादा complicated होता है , 2) visual basic  हमें यूजर इंटरफ़ेस बनाने के लिए   convenient माध्यम देता है , 3) अन्य  graphical user interfaces या gui का इंटरफ़ेस इससे बेहतर नही है |, 4)  efficiency के लिए visual basic उस कोड के साथ  भी इंटरफ़ेस कर सकता है जो c programming भाषा में लिखा गया है , visual basic programming भाषा में क्या नही है :>, 1)visual basic   elegant या fast नही है |, 2) visual basic एक पावरफुल प्रोग्रामिंग भाषा नही है जिसमे में की आप जो चाहे वो करें , 3)visual basic सी programming भाषा के लिए  रिप्लेसमेंट नही है |, 4)इस भाषा में वो सब नही है जो अन्य programming भाषा में आप प्रयोग करते हो |, visual basic के विशेषताएं :>, 1) ओजेक्ट्स का पूरा सेट जिससे आप एप्लीकेशन को ड्रैग ड्राप से ही डिजाईन कर सकते हो|, 2)बहुत सारे  icons और पिक्चर जिनका आप प्रयोग कर सकते है |, 3) माउस और  कीबोर्ड के एक्शन में प्रतिक्रिया देता है |, 4) क्लिप बोर्ड और प्रिंटर को एक्सेस कर सकते है , 5)गणितीय ,स्ट्रिंग हैंडलिंग और  ग्राफिकल फंक्शन का पूरा ऐरे , 6)फाइल सपोर्ट के लिए sequential और random access, 7) शक्तिशाली debugger और  error-handling व्यवस्था , 8)शक्तिशाली डेटाबेस एक्सेस टूल्स , 9)एक्टिव सपोर्ट , 10)package और  deployment wizard आपके एप्लीकेशन के distributing को आसान बानाता है , 11) आप इसमें ज्यादा काम्प्लेक्स फंक्शन कोड कर सकते है , 12)अंतिम स्टेप में आप आसानी  initialization कोड जोड़ सकते है , 13)यूजर इंटरेक्शन को हैंडल करने के लिए  आप छोटे snippets के कोड  को जोड़ सकते है , आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं, एक टिप्पणी भेजें, 0 टिप्पणियाँ.

आपके सुझाव सादर आमंत्रित है

  • रोचक तथ्य 4
  • August Current Affairs 9
  • C PLUS PLUS 4
  • C-PROGRAMMING-HINDI 11
  • CURRENT AFFAIRS 36
  • GI & REASONING 11
  • Software engineering 6
  • SYSTEM SOFTWARE 7

Popular Posts

Structure of c program in hindi ,सी प्रोग्राम की संरचना हिंदी में

Structure of c program in hindi ,सी प्रोग्राम की संरचना हिंदी में

Input Output function in c in hindi, सी प्रोग्रामिंग में  इनपुट आउटपुट फंक्शन हिंदी में ,scanf,printf

Input Output function in c in hindi, सी प्रोग्रामिंग में इनपुट आउटपुट फंक्शन हिंदी में ,scanf,printf

सी भाषा में  टोकन्स , TOKENS in C language

सी भाषा में टोकन्स , TOKENS in C language

Cohesion  और Coupling–   software engineering in hindi

Cohesion और Coupling– software engineering in hindi

EDUCATION in INDIA: STATUS, PROBLEM & ISSUES previous question paper B.Ed.(First Year) APSU REWA भारत में शिक्षा : स्थिति, समस्‍या और मुद्देे

EDUCATION in INDIA: STATUS, PROBLEM & ISSUES previous question paper B.Ed.(First Year) APSU REWA भारत में शिक्षा : स्थिति, समस्‍या और मुद्देे

javascript data types in hindi , जावास्क्रिप्ट डाटा टाइप्स हिंदी में

javascript data types in hindi , जावास्क्रिप्ट डाटा टाइप्स हिंदी में

MP SAMBHAG,KNOW MP,ABOUT MP,KNOWLEDGE FOE EXAM,GK IN HINDI

MP SAMBHAG,KNOW MP,ABOUT MP,KNOWLEDGE FOE EXAM,GK IN HINDI

Childhood and Growing UP previous question paper B.Ed.(First Year) APSU REWA बाल्‍यावस्‍था एवं बड़ा होना

Childhood and Growing UP previous question paper B.Ed.(First Year) APSU REWA बाल्‍यावस्‍था एवं बड़ा होना

संख्या पद्धति पर आधारित प्रश्न , Question based on number system

संख्या पद्धति पर आधारित प्रश्न , Question based on number system

LIFE SCIENCE previous question paper B.Ed.(First Year) APSU REWA लाइ‍फ साइंस

LIFE SCIENCE previous question paper B.Ed.(First Year) APSU REWA लाइ‍फ साइंस

Random posts, recent posts, menu footer widget.

VB.net क्या है? VB.net का कार्यप्रणाली सबकुछ विस्तार से जानिए?

VB.net क्या है? इसका उपयोग कैसे किया जाता है? VB.net की बिशेषताएँ क्या है? इसका सम्पूर्ण उपयोग को समझिए। आइये VB.net को विस्तार से जानिए? What is VB.NET? Know VB.NET in Details in Hindi.

VB.NET in Details in Hindi

VB.NET एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। इसे . NET फ्रेमवर्क में Implemented किया गया है। माइक्रोसॉफ्ट ने Visual basic .net को 2002 में लांच किया था।

हिस्ट्री ऑफ़ VB.NET

विजुअल बेसिक (VB) माइक्रोसॉफ्ट द्वारा अपने ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज के लिए विकसित एक प्रोग्रामिंग भाषा है। यह 1992 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा विकसित किया गया था। विजुअल बेसिक(BASIC) भाषा से बनाया गया है, बेसिक भाषा को अन्य भाषाओं की तुलना में पढ़ने में आसान कहा जाता है।

यह ग्राफिकल यूजर इंटरफेस ( GUI ) के रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट (RAD) का समर्थन करता है। अंतिम संस्करण 1998 में पिछली बार जारी किया गया था। माइक्रोसॉफ्ट का समर्थन मार्च 2008 में खत्म हो गया, जिसके बाद माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विज़ुअल बेसिक डॉटनेट (‘VB.NET’) का शुभारंभ किया गया।

VB.NET का परिचय

यह एक उच्च स्तर प्रोग्रामिंग भाषा है। इसे 2002 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा विकसित किया गया था। हालांकि, अन्य प्रोग्रामिंग भाषाएं की तुलना में विजुअल बेसिक इतनी लोकप्रिय नहीं रही, विजुअल बेसिक का अंतिम संस्करण था 6.0 जो 1998 में जारी किया गया था।

कई कंपनियों के द्वारा विजुअल बेसिक की आलोचना की गई थी तथा विजुअल बेसिक प्रोग्रामर्स के लिए पसंदीदा भाषा नहीं थी लेकिन VB.NET एक ऐसी उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा है तथा इसे .NET फ्रेमवर्क पर लागू किया गया है। जिसके द्वारा सभी तरह के प्रोफेशनल एप्लीकेशन डेवलप करने के लिए हमें आवश्यक टूल्स (Tools) प्रदान करता हैं।

हम इन टूल्स का उपयोग कर थोड़े समय में और आसानी से किसी भी प्रोजेक्ट् व एप्लीकेशन को विकसित कर सकते है।मुझे पता है, आज के प्रोग्रामर के लिए विजुअल बेसिक महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन वास्तव में, आप प्रोग्रामर बनने के लिए इस बेसिक प्रोग्रामिंग टूल (Basic Programming Tool) को सीख सकते हैं।

थोड़ी देर के लिए विजुअल बेसिक के साथ काम करने के बाद, आप विजुअल बेसिक स्टूडियो (Visual Basic Studio), विजुअल बेसिक. नेट (VB.NET), और अन्य प्रोग्रामिंग टूल पर काम कर सकते हैं इसलिये आपको इसे ठीक से सीखना जरूरी है।

VB.NET क्या हैं?

दोस्तों नमस्कार, हमारे पिछले आर्टिकल में हमने आपको Visual Basic के बारे में विस्तार से बताया था,आज हम उसी से जुडी या ये कहें की उसी का Upgrade Version कही जाने वाली VB.Net प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में आपको बताने वाले हैं।

तो आइये जान लेते हैं कि विज़ुअल बेसिक डॉटनेट क्या है? विजुअल बेसिक/VB माइक्रोसॉफ्ट द्वारा अपने ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज के लिए विकसित की गयी एक प्रोग्रामिंग भाषा है। VB.Net, विसुअल बेसिक का ही विकसित रूप है। वैसे तो VB भाषा को 1992 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा विकसित किया गया था, लेकिन साल 2008 में इसे बंद कर दिया गया और VB की जगह VB.Net को लांच कर दिया गया।

विजुअल बेसिक बेसिक भाषा से बनाया गया है, बेसिक भाषा अन्य भाषाओं की तुलना में पढ़ने में आसान होती है। यह ग्राफिकल यूजर इंटरफेस/GUI के रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट/RAD का समर्थन करती है। कंप्यूटर की मूल यूनिट VB.Net एक उच्च स्तर प्रोग्रामिंग भाषा है। अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओँ की तुलना में विजुअल बेसिक इतनी लोकप्रिय नहीं रही, जिसके कारण इसे माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा बंद करना पड़ा।

कई कंपनियों के द्वारा विजुअल बेसिक की आलोचना की गई थी। लेकिन VB.Net एक ऐसी उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा है, और इसे .NET फ्रेमवर्क पर लागू किया गया है। जिससे इसके द्वारा सभी तरह के प्रोफेशनल एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर डेवलप करने के लिए हमें आवश्यक टूल्स/Tools मिल जाते हैं। हम इन टूल्स का इस्तेमाल कर थोड़े समय में और आसानी से किसी भी प्रोजेक्ट् व एप्लीकेशन को विकसित कर सकते हैं।

यहाँ आपको बतादें कि किसी भी प्रोग्रामर के लिए विजुअल बेसिक ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन आप प्रोग्रामर बनने के लिए इसके बेसिक प्रोग्रामिंग टूल को सीख सकते हैं। थोड़े समय मेहनत करके आप विजुअल बेसिक स्टूडियो/Visual Basic Studio, विजुअल बेसिक.नेट/VB.NET और अन्य प्रोग्रामिंग टूल पर काम कर सकते हैं। VB.NET की मदद से आप कोई भी एप्लीकेशन प्रोग्राम बहुत जल्दी और आसानी से बना सकते हैं।

VB.NET के Data Types

जब किसी वेरिएबल को डिक्लेअर किया जाता है,तब हमे उसके डाटा टाइप को भी लिखना होता है ,क्योकि किसी भी वेरिएबल में स्टोर की जाने वाली वैल्यू उसके डाटा टाइप पर निर्भर करती है।

वेरिएबल का डाटा टाइप जिस प्रकार का होगा उसमे उसी प्रकार की वैल्यू स्टोर की जा सकेगी। Programming मे Data Types Data का Type define करते हैं।

Data Types Store होने वाले Data के Type के साथ ही उसकी Data Storage Length भी बताते है। Visual Basic मे Variables को निम्नलिखित पाँच Categories मे बांटा गया है:-

Numeric Variables :- ऐसे नंबर्स जिनमे डेसीमल पॉइंट का उपयोग नही किया जाता है ,Integer numbers कहलाते है। इसमे numbers store करने वाले data type आते हैं। इनका प्रयोग mathematical operations perform करने के लिए किया जाता है। इसमे निम्न data type’s आते हैं-

Short (Int16):- यह Integer Value को स्टोर करने लिए Use होता है। इसमे -32768 से 32767 तक value store की जा सकती है और यह Memory मे 2 bytes लेती है। Dim a As Short a = 10000

Integer (Int32):- यह Integer Value को स्टोर करने लिए Use होता है। इसमे -2147483648 से 2147483647 तक Value Store की जा सकती है और यह Memory मे 4 bytes लेती है। Dim a As Integer a = 1000000

Long (Int64):- यह Integer Value को स्टोर करने लिए  use  होता है। इसमे  integer से अधिक value store की जा सकती है और यह Memory मे 8 bytes लेता है।

Floating point Numbers :- ऐसे नंबर्स जिनमे डेसीमल पॉइंट का उपयोग किया जाता है ,Floating point Numbers कहलाते है।

  • Single-यह single precision floating no को स्टोर करता है। इसमे -3.402823E38 से -1.401298E-45 और 1.401298E-45 से 3.402823E38 तक value store कर सकता है। यह 4 Byte Memory लेता है।
  • Double-यह Double Precision Floating no को स्टोर करता है। इसमे -1.797693134486232E308 से -4.94065645841247E-324 और 4.94065645841247E-324  से 1.797693134486232E308  तक Value Store कर सकता है। यह 8 Byte Memory लेता है।
  • Decimal-इसमे 0 से 7.9228162514264337593543950335 positive और negative value storeकर सकते हैं। यह Memory मे 16 Byte लेता है।

Byte:-  यह भी एक Numeric data type है जो की 0 से 255 तक की Value store की जाती है। यह Memory मे 2 byte लेता है।

String :-Characters के समूह को स्ट्रिंग कहते है यह characters को store करने के लिए प्रयोग होता है। इसमे निम्न 2 type होते हैं।

  • String-यह केवल Text को Store करने के लिए Use किया जाता है। यह Set of Characters को स्टोर करता है। इसमे 2 GB तक Text Store कर सकते है।
  • Char -यह Single Character को Store करने के लिए Use होता है। और memory मे 2 Byte Space लेता है।

Boolean:-  इस Data Type का प्रयोग True या False Value Store करने के लिए किया जाता है। अधिकतर इसका प्रयोग Conditions Check करने मे होता है।

Date:- यह Data Type Date और Time Store करने के लिए प्रयोग किया जाता है। इसमे Date या Time को Store करने के लिए # कैरक्टर का प्रयोग करते है।

Dim a As Date

a = #1/4/2005#

Object:- यह एक Common Data Type है जो की सभी Data Types के Common Features के साथ सभी प्रकार की Value Store करने के लिए Use किया जाता है।

विज़ुअल बेसिक डॉटनेट की विशेषताएं

Object Oriented Programming:- विज़ुअल बेसिक डॉटनेट ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग के सभी विशेषताओं का समर्थन करता है।

GUI Interface:- ग्राफिकल यूजर इंटरफेस के लिए हम इसका प्रयोग करते है यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए एप्लीकेशन, वेबसाइट्स आदि बनाने की सुविधा देता है।

Integrated Development Environment:- यह भाषा विजुअल स्टूडियो का उपयोग कर एक इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट एनवायरनमेंट प्रदान करती है जिसे जीयूआई (GUI) के लिए कार्यक्रम बनाने में प्रयोग किया जाता है। यह कई विंडोज प्रदान करता है जो प्रोग्राम बनाने में मदद करते हैं। जैसे- प्रॉपर्टीज़ विंडो, टूलबॉक्स आदि।

User Interface Design:- यह भाषा यूजर इंटरफेस के डिजाइन की अनुमति देता है। इसमें एक विंडोज़ फॉर्म डिज़ाइनर है जो विंडोज़ के लिए एक फॉर्म डिजाइन करता है जो टूलबॉक्स की सहायता से यूआई (UI) डिजाइन करने में मदद करता है।

Rapid Application Development:- विज़ुअल बेसिक डॉटनेट रैपिड एप्लिकेशन डेवलपमेंट का समर्थन करता है उपयोगकर्ता को सभी कोड टाइप करने की ज़रूरत नहीं है यह स्वचालित रूप से कई कोडिंग कोडित करता है फॉर्म डिजाइन की तरह, इवेंट्स के लिए कोड स्वचालित आ जाते है।

AutoComplete:- विजुअल बेसिक. नेट का कोड एडिटर ऑटो कम्पलीट होने की अनुमति देता है। अपने कोड एडिटर में कोड लिखते समय, यह कोड स्वचालित रूप से पूरा करता है, ताकि उपयोगकर्ता समय बचा सकता है।

Auto Quick Information:- इस सुविधा के कारण कोड लिखते समय, उपयोगकर्ता के बिना फ़ंक्शन लाइब्रेरी को खोले, यह सिंटेक्स, प्रॉपर्टीज का डिस्क्रिप्शन, वेरिएबल डिक्लेरेशन आदि को एक पीली पट्टी में एक टिप के रूप में देखा देती है। इसे ऑटो क्विक इनफार्मेशन कहा जाता है।

Auto List Of Members:- इसमे ऑब्जेक्ट का नाम टाइप करने के बाद डॉट लगाते ही , यह सभी मेम्बेर्स (प्रॉपर्टी और मेथोड्स) की एक सूची प्रदर्शित करेगा जिसमें उपयोगकर्ता किसी भी मेम्बर का चयन कर सकता है।

Auto Syntax Check:- इसका कोड एडिटर स्वतः सिंटैक्स त्रुटि (Syntax Error) की जांच कर त्रुटि (Error) को दिखाता है।

Auto Compile:- यह प्रोग्राम को स्वचालित रूप से त्रुटि को कमपाईल (Compile) करके त्रुटि (Error) दिखाता है। इसमें लॉजिकल त्रुटियों (Logical Errors) को छोड़कर सभी त्रुटियां शामिल है।

Help System:- यह ऑनलाइन (Online) और ऑफ़लाइन (Offline) दोनों प्रकार की सहायता प्रदान करता है, यह इंटरनेट ( Internet ) और एमएसडीएन (MSDN) के द्वारा ऑफ़लाइन मदद भी प्रदान करता है।

VB.NET का संस्करण

  • स्टैण्डर्ड (Standard)
  • प्रोफेशनल (Professional)
  • एंटरप्राइज (Enterprise)

VB.NET की टाइमलाइन

  • VB.NET 1.0: 1991
  • VB.NET 2.0: 1992
  • VB.NET 3.0: 1993
  • VB.NET 4.0: 1995
  • VB.NET 5.0: 1997
  • VB.NET 6.0: 1998

VB.NET के लिए हार्डवेयर आवश्यकताएं

Computer /Processor:- पेन्टियम® 90MHz या उच्च माइक्रोप्रोसेसर (Pentium® 90 MHz or Higher Microprocessor )

Memory:- विंडोज 95/98 के लिए 24 MB रैम, विंडोज एनटी के लिए 32 MB (24 MB RAM for Windows 95/98, 32 MB for Windows NT)

Hard Disk:- 500 MB हार्ड डिस्क स्पेस (500MB Hard Disk Space)

Display:- माइक्रोसॉफ्ट विंडोज द्वारा समर्थित वीजीए 640×480 या उच्च रिज़ॉल्यूशन स्क्रीन (VGA 640×480 or Higher Resolution Screen Supported by Microsoft Windows)

Operating System:- माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 95 या बाद के ऑपरेटिंग सिस्टम (Microsoft Windows 95 or Later Operating System)

.wp-show-posts-columns#wpsp-2726 {margin-left: -2em; }.wp-show-posts-columns#wpsp-2726 .wp-show-posts-inner {margin: 0 0 2em 2em; } Amazon Academy क्या है? कैसे करें उपयोग? – Amazon Academy in Hindi
.wp-show-posts-columns#wpsp-2720 {margin-left: -2em; }.wp-show-posts-columns#wpsp-2720 .wp-show-posts-inner {margin: 0 0 2em 2em; } MS Word की कार्यप्रणाली को विस्तार से जानिए? सबकुछ यहाँ पर
.wp-show-posts-columns#wpsp-2729 {margin-left: -2em; }.wp-show-posts-columns#wpsp-2729 .wp-show-posts-inner {margin: 0 0 2em 2em; } Computer क्या है? कैसे काम करता है? संक्षिप्त जानकारी

आप VB.NET के साथ क्या कर सकते हैं?

VB.NET के साथ आप किसी भी विषय पर विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए प्रोग्राम विकसित कर सकते हैं। जैसे:-यदि आप किसी कॉलेज या विश्वविद्यालय के एक अध्यापक हैं, तो आप अपने शैक्षिक उद्देश्यों के लिए जैसे की इंजीनियरिंग (Engineering), कंप्यूटर विज्ञान (Computer Science), लेखांकन (Accounting), वित्तीय प्रबंधन (Financial Management) आदि से संबंधित विषयों पर प्रोग्राम बना सकते हैं, इस प्रोग्राम के तहत आप सरल (Simple), अधिक प्रभावी (More Effective) और दिलचस्प (Interesting) तरीके से जानकारी प्रदान सकते हैं।

VB.NET Environment

Visual Basic.NET Environment के लिये यह ऑप्‍शन डायलॉग बॉक्‍स हमें विजुअल बेसिक डेवलपमेंट वातावरण की डिफॉल्‍ट सैटिंग (Default Setting ) को बदलने के लिए Allow करता हैं। विजुअल बेसिक डॉट नेट मे डिफॉल्‍ट सैटिंग को बदलने के लिये ऑप्‍शन डायलॉग बॉक्‍स के लिये निम्‍नलिखित स्टेप्स  को पूरा करते हैं-

Step 1:- विजुअल बेसिक डॉट नेट के प्रोजेक्‍ट में प्रदर्शितMenu Bar पर Tool Menu को क्लिक करते हैं।

Step 2:- Tool Menu के अंदर प्र‍दर्शित Submenus में से Option Submenu पर क्लिक करते हैं, तो ऑप्शन डायलॉग बॉक्‍स प्रदर्शित होता हैं।

VB.NET Environment

इस ऑप्‍शन डायलॉग बॉक्‍स में निम्‍नलिखित Tabs Strips होती हैं:-

  • एडिटर टैब (Editor Tab)
  • एडिटर फॉर्मेट टैब (Editor Format Tab)
  • जनरल टैब (General Tab)
  • डॉकिंग टैब (Docking Tab)
  • एनवायरमेंट टैब (Environment Tab)
  • एडवांस्‍ड टैब (Advanced Tab)

एडिटर टैब (Editor Tab) कोड विण्‍डो तथा प्रोजेक्‍ट की सैटिंग का विवरण करता हैं। जब Option डायलॉग बॉक्‍स प्रदर्शित होता हैं तो By Default एडिटर टैब के option प्रदर्शित होते हैं।

एडिटर टैब के अंदर Code Setting तथा project Window के निम्‍नलिखित Tab Options होते हैं।

कोड सैटिंग्‍स के टैब ऑप्‍शन्‍स

Auto Syntax Check:- विजुअल बेसिक डॉट नेट में जब हम कोडि़ग करते हैं, तो यदि हमने Coding की एक लाइन को टाइप किया हैं, और इसमें कोई गलती हुई हैं तो यह स्‍वत: ही सही हो जाती हैं।

Require Variable Declaration:- यदि मॉड्यूल (Module) में Explicit Variables की आवश्‍यकता हैं, तो यह Option उस Variable को परिभाषित करता हैं। इसे चुनने के बाद Option Explicit कथन नये मॉड्यूलमें General Declare होता हैं।

Auto List Member:- यह ऑप्‍शन एक बॉक्‍स को प्रदर्शित करता हैं जो उस सूचना को दिखाता हैं, जो Current Insertion Point पर कथन को लॉजिकली पूरा करता हैं।

Auto Quick Info:- यह ऑप्‍शन फंक्‍शनों तथा उनके पैरामीटरों के बारे में सूचना प्रदर्शित करता हैं।

Auto Data Type:- यह ऑप्‍शन Break Mode में Code Window में Variable की Value या Object Property को प्रदर्शित करता हैं, जिस स्‍थान पर Cursor स्‍थापित होता हैं।

विण्‍डो सैटिंग्‍स के टैब ऑप्‍शन्‍स

Drag-and-Drop Text:- यह ऑप्‍शन कोड विण्‍डो में Current Code के तत्‍वों को Drag तथा Drop करने के लिये Allow करता हैं।

Default to full module view:- यह ऑप्‍शन नये मॉड्यूलों के लिये Default State को Allow करता हैं।

Procedure Separator:- यह ऑप्‍शन Separator Bars को प्रदर्शित करने या छुपाने के लिये Allow करता हैं, जो कोड विण्‍डो में प्रत्‍येक प्रोसीजर के अंत में प्रकट होता हैं।

एडिटर फॉर्मेट टैब

यह टैब Visual Basic Code के Appearance को Specify करता हैं। इसके विभिन्‍न tab Options निम्‍नलिखित हैं:-

Text List:- यह ऑप्‍शन उन आइटमों की लिस्‍ट को प्रदर्शित करता हैं जो कस्‍टमाइज्ड रंगों को रखते हैं ।

Foreground:- यह ऑप्शन टैक्‍स्‍ट के लिये Foreground color को Specify करता हैं, जिस Text को कलर टैक्‍स्‍ट लिस्‍ट में चुना जाता हैं।

Background:- यह ऑप्‍शन टैक्‍स्‍ट के लिये Background color को Specify करता हैं, जिस टैक्‍स्‍ट को कलर टैक्‍स्‍ट लिस्‍ट से चुना जाता हैं।

Indicator:- यह ऑप्‍शन Margin Indicator रंग को Specify करता हैं।

Font:- यह ऑप्‍शन पूरे कोड के लिये प्रयोग किये जाने वाले फॉन्‍ट को Specify करता हैं।

Size:- यह ऑप्‍शन कोड में प्रयोग किये जाने वाले Font के आकार को Specify करता हैं।

Margin Indicator Bar:- यह ऑप्‍शन Margin Indicator Bar को विजिबल या नॉट-विजिबल बनाता हैं।

Sample:- यह ऑप्‍शन Code में प्रयोग किये जाने वाले Font, Size तथा Color के Setting के sample को प्रदर्शित करता हैं।

फॉर्म ग्रिड सैटिंग्‍स

यह ऑप्‍शन फॉर्म (From) के डिजाइन के समय फॉर्म की ग्रिड की प्रस्‍तुति (Appearance) प्रदर्शित करता हैं। इसके अंतर्गत निम्‍नलिखित Options आते हैं:-

Show Grid:- यह ऑप्‍शन सुनिश्चित करता हैं कि Form के डिजाइन टाइम पर ग्रिड को दिखना हैं या नहीं दिखाना हैं।

Grid Units:- यह ऑप्‍शन फॉर्म पर प्रयोग की गयी ग्रिडों को प्रदर्शित करता हैं।

Width:- यह ऑप्‍शन फॉर्म पर ग्रिड शैलों (Grid Cells) की ऊंचाई (Width) को सुनिश्चित करता हैंहैं, जो सामान्‍यत:2 से 60 Point के मध्‍य तक होते हैं।

Height:- यह ऑप्‍शन फॉर्म पर ग्रिड शैलों (Grid Cells) की ऊंचाई (Height) को सुनिश्चित करता हैं, जो सामान्‍यत:2 से 60 Point के मध्‍य तक होते हैं।

Align Controls to grid:- यह ऑप्‍शन ग्रिड लाइनों पर कंन्‍ट्रोल (Controls), बाहरी भुजाओं (Outer Edges) की स्थिति को स्‍वत: ही Set करता हैं।

How Tool Tips:- यह बिन्‍दु टूबार तथा टूल बॉकस आइटमों के लिये Tool Tips को प्रदर्शित करता हैं।

Collapse Project Hides Windows:- यह ऑप्‍शन (Option) प्रोजेक्‍ट एक्‍सप्‍लोरर (Project Explorer) में जब एक प्रोजेक्‍ट को बंद (Collapse) किया जाता हैं या विण्‍डोज को छुपाया जाता हैं, इसे सुनिश्चित करता हैं।

एरर ट्रैपिंग

यह ऑप्‍शन सुनिश्चित करता हैं कि विजुअल बेसिक डेवलपमेंट वातावरण में कैसे गलतियों को Handled किया जाता हैं, तथा विजुअल बेसिक के सभी इन्‍स्‍टान्‍सों (Instances) के लिये Error Trapping के Default State को Set करता हैं, विजुअल बेकिक के आगे के Session में बिना किसी बदलाव के केवल Current Session के लिये Error Trapping को Set करना हैं, तो कोड विण्‍डो की शार्टकट की टोगल (Toggle) कमाण्‍ड का प्रयोग करते हैं।

कम्‍पाइल

यह ऑप्‍शन यह सुनिश्चित करता हैं, कि विजुअल बेसिक में कैसे प्रोजेक्‍ट को शुरू (Start) करने से पहले पूरी तरह से कम्‍पाइल करना हैं या आवश्‍यकता के अनुसार कोड को कम्‍पाइल किया जाता हैं, जो एप्‍लीकेशन को जल्‍दी से जल्‍दी प्रारंभ करे।

Compile on Demand:- यह ऑप्‍शन पुष्टि करता हैं कि एक प्रोजेक्‍ट को शुरू (Start) करने से पहले पूरी तरह से कम्‍पाइल करना हैं यह आवश्‍यकता के अनुसार कोड को कम्‍पाइल किया जाता हैं, जो एप्‍लीकेशन को जल्‍दी से जल्‍दी प्रारंभ करे।यदि हम Run Menu में Full Compile कमाण्‍ड का चुनते हैं तो विजुअल बेसिक Compile on Demand सैटिंग को इग्‍नोर करती हैं, तथा Full Compile को पूरा करती हैं।

Background Compile:- यह ऑप्‍शन पुष्टि करता हैं कि बैकग्राउण्‍ड में प्रोजेक्‍ट को कम्‍पाइल को पूरा करते समय रनटाइम के समय प्रयोग किया गया समय आदर्श समय हैं। बैकग्राउण्‍ड कम्‍पाइल रनटाइम की क्रियान्वित स्‍पीड (Execution Speed) को सुधार सकता हैं। यह फीचर तब तक उपलब्‍ध नहीं होता हैं, जब तक कि कम्‍पाइल ऑन डिमाण्‍ड भी नहीं चुना जाता हैं।

डॉकिंग टैब (Docking Tab) हमें ये चुनने का ऑप्‍शन (Option) प्रदान करता हैं कि हम कौन-सी विण्‍डोज को डॉकेबल (Dockable) करना चाहते हैं।जब हम एक डॉकेबल (Dockable) विण्‍डो को मूव (Move) करते हैं तो यह लोकेशन को स्‍नैप (Snap) करता हैं। डॉकिंग टैब (Docking Tab) के अंतर्गत Dockable Tab उन Window की list का प्रदर्शित करता हैं जो विण्‍डोज डॉकेबल (Dockable) हैं। इनमें से हम उन विण्‍डोज को चुनते हैं, जिन्‍हें हम Dockable करना चाहते हैं और उन विण्‍डोज को Clear करते हैं, जिन्‍हें हम Dockable नहीं करना चाहते हैं।

एनवायरमेंट टैब

एनवायरमेंट टैब विजुअल बेसिक डेवलपमेंट के गुणों की पुष्टि करता हैं। इस डायलॉग बॉक्‍स में हम जो भी बदलाव रजिस्‍ट्री फाइल में सुरक्षित (saved) होते हैं तथा जब भी हम विजुअल बेसिक को प्रारंभ करते हैं, तब प्रत्‍येक बार यह लोड होता हैं।

VB.NET के लाभ

अब, VB.Net ढांचे के फायदे जानते हैं:-

ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड:- VB.Net सभी एक ऑब्जेक्ट है। आदिम डेटा प्रकारों से उपयोगकर्ता-परिभाषित डेटा प्रकारों में से प्रत्येक और सब कुछ वस्तु आधारित है। यह आसानी से किसी भी OOP आधारित भाषा जैसे जावा आदि के सभी लाभ देता है।

आधुनिक और सामान्य उद्देश्य:- VB.Net एक सामान्य प्रयोजन की भाषा है जिसमें किसी भी आधुनिक तकनीक की सभी विशेषताएं हैं।

सीखने में आसान:- इसके आसान वाक्यविन्यास और कम सीखने की अवस्था के कारण इसे सीखना आसान है।

संरचित भाषा – VB.Net एक उच्च संरचित भाषा है।

घटक-उन्मुख:- VB.Net घटक की अवधारणा का अनुसरण करता है। यहाँ घटक का मतलब है कि पूरे अनुप्रयोग को सरल घटकों में उप-विभाजित किया गया है और फिर इन घटकों को एक पूर्ण आवेदन करने के लिए व्यक्तिगत रूप से विकसित किया गया है।

प्लेटफ़ॉर्म इंडिपेंडेंट:- यह एक प्लेटफ़ॉर्म-इंडिपेंडेंट प्रोग्रामिंग टेक्नोलॉजी है इसलिए इसे कई तरह के कंप्यूटर प्लेटफ़ॉर्म पर संकलित किया जा सकता है और इसे अलग-अलग OS पर चलाया जा सकता है।

कुशल कार्यक्रम तैयार करता है:- VB.Net कुशल अनुप्रयोगों को विकसित करने में सक्षम है।

बड़े सामुदायिक समर्थन:- यह बड़ी संख्या में लोगों के प्रयासों और इनपुट के साथ एक बड़ा सामुदायिक समर्थन है। यह .Net फ्रेमवर्क का एक हिस्सा है।

VB.NET के नुकसान

पॉइंटर्स को सीधे हैंडल नहीं कर सकते:-यह एक नुकसान हो सकता है क्योंकि एक पॉइंटर को संभालने के लिए अधिक आवश्यक कोडिंग और सोचा जाता है। अतिरिक्त सीपीयू परिणाम अतिरिक्त सीपीयू चक्रों में; बदले में अतिरिक्त प्रसंस्करण समय की आवश्यकता होती है; जो धीमी अनुप्रयोगों में परिणाम है।

बड़े टैलेंट पूल:- चूंकि वीबी सीखना इतना आसान है, इसलिए प्रतिस्पर्धा का एक बड़ा पूल है; इस प्रकार, एक ही रोजगार या परियोजना के लिए अधिक प्रोग्रामर आवेदन कर सकते हैं और यह अंततः प्रोग्रामर की सेवाओं के बाजार मूल्य को नीचे ले जा सकता है।

मध्यवर्ती भाषा (IL) संकलन:- इस प्रकार के संकलक आसानी से विघटित हो सकते हैं (उर्फ रिवर्स इंजीनियर); ऐसा बहुत कम होता है, जो अनुप्रयोग के विघटन को रोकने के लिए किया जा सकता है, और लगभग कुछ भी नहीं जो इसे रोकने के लिए किया जा सकता है।

जस्ट-इन-टाइम (JIT) कंपाइलर:- JIT कंपाइलिंग वह तरीका है जिससे कंप्यूटर IL संकलन की व्याख्या कर सकता है। आवेदन चलाने के लिए यह आवश्यक है। इसका मतलब है कि लक्ष्य कंप्यूटर को JIT की आवश्यकता होगी और यह कि JIT का उपयोग करने के लिए आवश्यक अतिरिक्त CPU चक्रों के कारण एप्लिकेशन को प्रदर्शन में गिरावट आ सकती है।

बड़े पुस्तकालय:- क्योंकि वीबी एक आईएल है, आवेदन की व्याख्या करने के लिए जेआईटी कंपाइलर के लिए बड़ी संख्या में पुस्तकालय आवश्यक हैं। बड़े पुस्तकालयों को अधिक हार्ड ड्राइव स्पेस, अधिक कंप्यूटिंग समय की आवश्यकता होती है और सबसे अधिक यह एक उपद्रव हो सकता है यदि आवेदन इंटरनेट पर तैनात किया जा रहा है और उपयोगकर्ता को संकलित एप्लिकेशन की फ़ाइलों के अलावा इन पुस्तकालयों को प्राप्त करना होगा।

Related Posts

Ms-excel की कार्य प्रणाली को विस्तार से जानिए, ms-outlook की कार्य प्रणाली को विस्तार से जानिए, control panel की पूरी जानकारी विस्तार से जानिए control panel in hindi, internet के बारे में विस्तार से जानिए, leave a comment cancel reply.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

BccFalna.com

TechTalks in Hindi. Be with Us, Be ahead.

  • Add to Cart => Click Checkout => Fill Billing Details => Pay and Download Instantly" style="padding-left: 0;"> BccFalna.com
  • How to Buy?
  • Tech Support

क्‍यों ठीक से सीखना जरूरी है Visual Basic?

VB6 in Hindi

हालांकि वर्तमान समय में VB6 में Professional Software Develop नहीं किये जाते, लेकिन यदि आप .NET Framework को Oracle के साथ Use करते हुए Professional Software Develop करना चाहते हैं, तो ये पुस्‍तक आपकी काफी मदद कर सकती है, क्‍योंकि भले ही Microsoft ने VB6 के स्‍थान पर इसका अगला Version VB.NET Launch कर दिया हो, लेकिन मूल में दोनों ही Languages की तकनीक काफी हद तक एक समान है।

इस पुस्‍तक को पढकर आप Microsoft के Event Driven Programming Model को समझ सकते हैं जो कि वर्तमान समय की सभी Programming Languages का मूल आधार है। यदि आप Visual Basic 6 को समझते हैं, तो वास्‍तव में आप Microsoft की नई Programming Language VB.NET को भी काफी हद तक समझ सकते हैं, क्‍योंकि VB.NET, VB6 का ही अगला Version है और VB6 के ज्‍यादातर Controls व Programming Methods को समान प्रकार से VB.NET में भी Implement किया गया है, ताकि कोई भी VB6 Programmer आसानी से .NET Framework में Professional Software Development कर सके।

विभिन्‍न प्रकार की Data Access Technology के साथ ही इस पुस्‍तक में Microsoft के ADO (ActiveX Data Object) के बारे में विस्‍तार से बताया गया है, जो कि वर्तमान में Microsoft के .NET Framework का भी हिस्‍सा है और लगभग समान रूप से ही काम करता है।

इसलिये यदि आप ये पुस्‍तक खरीदते हैं, तो आप Microsoft के ADO Structure को काफी अच्‍छी तरह से समझ सकते हैं और इसका फायदा आपको .NET Framework को Use करते हुए Database Application Software बनाने में होगा।

इस पुस्‍तक को PDF EBook के रूप में खरीदने से सम्‍बंधित किसी भी तरह की समस्‍या के समाधान हेतु आप Mobile Number:  097994-55505  पर Call कर सकते हैं, जहां मैं स्‍वयं आपके पुस्‍तक खरीदने से सम्‍बंधित किसी भी तरह के सवाल का जवाब देता हूं अथवा किसी भी तरह के Confusion को Solve करता हूं।

ये पुस्‍तक उन लोगों के लिये काफी उपयोगी है, जो विभिन्‍न Universities से Degree Level Course कर रहे हैं और उनके Syllabus में Subject के रूप में  Visual Basic 6 हैं। यदि आप चाहें तो पुस्‍तक खरीदने से पहले आप इसके कुछ  SAMPLE CHAPTERS  को  DEMO EBOOK  के रुप मे Download करके भी पढ सकते हैं, ताकि आप ये जान सकें कि पुस्‍तक कितनी सरल भाषा में लिखी गई है और आप कितनी आसानी से Visual Basic 6  को Use करना सीख सकते हैं व .NET Framework के लिए  Preparation  कर सकते हैं।

ये पुस्‍तक PDF EBook के रूप में है, इसलिए आप इस पुस्‍तक को न केवल अपने Computer पर पढ सकते हैं, बल्कि आप इस पुस्‍तक को किसी भी ADOBE Reader Supported Mobile Phone, Tablet PC, Netbook, Laptop पर भी पढ सकते हैं और इसमें दिये गए Programs व Examples को तुरन्‍त Copy करके अपने Computer पर Run कर सकते हैं व Program का Effect देख सकते हैं।

ये पुस्‍तक न केवल आपके Programming Career को एक नई दिशा देने में मदद करती है, बल्कि यदि आप कोई Degree Level Course जैसे कि BCA, PGDCA, MCA, O-Level, A-Level, B-Level आदि भी कर रहे हैं, तो भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होती है और आपके ज्‍यादातर Syllabus को Cover करती है।

इस पुस्‍तक में काफी कम पन्‍नों में बहुत ज्‍यादा Concepts के बारे में बताया गया है, जो कि उन लोगों के लिए बहुत उपयोगी है, जो Student हैं और जिनके Syllabus में Visual Basic 6 को एक Compulsory Subject के रूप में पढाया जाता है, क्‍योंकि इस पुस्‍तक को वे Notes तरह उपयोग में ले सकते हैं और Exam में अपनी Ranking को Improve सकते हैं।

इस पुस्‍तक की सबसे बडी विशेषता ये है कि ये पुस्‍तक आसानी से समझने योग्‍य हिन्‍दी भाषा में लिखी गई है और हिन्‍दी भाषा के क्लिष्‍ट शब्‍दों का प्रयोग करने के स्‍थान पर इसमें English भाषा के शब्‍दों का प्रयोग ज्‍यादा किया गया है क्‍योंकि Computer Programming में English भाषा के शब्‍द, हिन्‍दी भाषा के शब्‍दों की तुलना में ज्‍यादा आसानी से समझ में आ जाते हैं।

इतना ही नहीं, यदि किसी कारणवश आपकी ये Softcopy EBook आपके खरीदने की तारीख से अगले 6 महीनों की अवधि में पूरी तरह से Damage, Destroy या Miss हो जाऐ, तो आप अगले 6 महीनों तक की अवधि में इसे दोबारा फिर से पूरी तरह से Free Download कर सकते हैं। लेकिन यदि आपकी ये Softcopy EBook आपके खरीदने की तारीख से 6 महीनों के बाद Damage, Destroy या Miss हो जाती है, तो उस Situation में भी Download Link फिर से प्राप्‍त करने के लिए आपको केवल 100/- रूपए ही भुगतान करना होगा।

और जैसाकि हम सभी जानते हैं कि हर पुस्‍तक में समय-समय पर नए Content Add होते रहते हैं और Outdated Content Remove होते रहते हैं, जिससे पुस्‍तकों का नया Version आता रहता है। यदि आप इस पुस्‍तक को PDF Format EBook के रूप में खरीदते हैं, तो इस पुस्‍तक के भविष्‍य में आने वाले सभी Updated Versions प्राप्‍त करने के लिए आपको केवल 100/- रूपए का ही Repayment करना होगा।

बस हमें Call / Whatsapp / EMail कीजिए, अपने Order Number या Email Address की जानकारी दीजिए, हमारे द्वारा दिए गए Payment Link से या हमारे Mobile No. 9799455505 पर BHIM App या UPI से केवल INR 100/- का Repayment कीजिए और इस पुस्‍तक का Download Link फिर से प्राप्‍त कर लीजिए।  ( VB6 in Hindi )

My Shopping Cart

How to buy online - simple steps.

  • Register करके Login कीजिए।
  • Price Page पर " Add to cart " Button को Click करके वांछित पुस्‍तकें Shopping Cart में Add कीजिए।
  • My Shopping Cart Widget में दिखाई देने वाले Checkout Button को Click कीजिए।
  • एक से अधिक EBooks खरीदने पर Extra Discount के लिए Coupon Code Apply कीजिए।
  • अपनी Billing Detail Fill करते हुए Instamojo , PayUMoney या Manual Payment Option Select करके " Place order " Button पर Click कीजिए।
  • Total Payable Amount का भुगतान कीजिए और पुस्‍तकें Download कीजिए अपने EMail या My Account से, तुरन्‍त।
  • पुस्‍तकें खरीदने से सम्‍बंधित किसी भी प्रकार की समस्‍या होने पर 097994-55505 पर Call / WhatsApp कीजिए।

WEBHOST that We USE and TRUST.

Used and Recommended by BccFalna.com

  • Only 6 Rules for Best Domain Name Selection.
  • Only 5 Rules for Best Web Hosting Selection
  • How to Buy Domain Name and Web Hosting?
  • How to Install WordPress Manually on Server?

Most Read Articles

  • Why Learn Python Programming Language
  • Why Learn C Programming Language
  • Why Learn C++ Programming Language
  • Why Learn Java Programming Language
  • Why Learn Android App Development
  • Why Learn C#.NET Programming Language
  • Why Learn ADO.NET with C#.NET
  • Why Learn ASP.NET WebForms
  • Why Learn Advance ASP.NET WebForms
  • Why Learn Data Structure
  • Why Learn Oracle-SQL/PLSQL
  • Why Learn Visual Basic 6
  • Why Learn HTML-XHTML
  • Why Learn HTML5 with CSS3
  • Why Learn JavaScript
  • Why Learn jQuery Framework
  • Why Learn PHP
  • Why Learn WordPress Framework
  • Why Learn Advance WordPress

Frequently Asked Questions

  • केवल Softcopy EBooks ही क्‍यों? Hardcopy क्‍यों नहीं?
  • Online Payment कीजिए। ये Safe और Fast है।
  • क्‍या है MasterCard 3D SecureCode , Verified by Visa (VbV) and RuPay PaySecure Code ?

Articles from …

  • ADO.NET with C# in Hindi
  • Advance ASP.NET WebForms in Hindi
  • Advance JavaScript in Hindi
  • Advance WordPress in Hindi
  • Android in Hindi
  • C Programming Language in Hindi
  • C# Programming Language in Hindi
  • C++ Programming Language in Hindi
  • Core ASP.NET WebForms with C# in Hindi
  • Core JSP in HIndi
  • Core PHP in Hindi
  • Core Python in Hindi
  • Data Structure and Algorithms in Hindi
  • HTML-XHTML in Hindi
  • HTML5 with CSS3 in Hindi
  • Java Programming in Hindi
  • jQuery in Hindi
  • Oracle 8i-9i SQL/PLSQL in Hindi
  • Visual Basic 6 in Hindi
  • WordPress in Hindi

Working on CCAvenue Payment Gateway Integration Dismiss

shopify analytics ecommerce tracking

Computer Notes In Hindi

Visual basic in hindi-जाने visual basic क्या है हिंदी में.

December 6, 2022 Ankit Visual Basic Notes In Hindi 13

Visual Basic In Hindi

Visual Basic In Hindi – हेल्लो  Engineers  कैसे हो , उम्मीद है आप ठीक होगे और पढाई तो चंगा होगा आज जो शेयर करने वाले वो Visual Basic  के Visual Basic In Hindi के बारे में हैं, तो यदि आप जानना चाहते हैं की Visual Basic In Hindi  क्या हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते हैं , और अगर समझ आ जाये तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं |

Visual Basic In Hindi

आज हम सीखेंगे की  विज़ुअल बेसिक डॉटनेट क्या है?  ( Visual Basic In Hindi )  विजुअल बेसिक  (VB) माइक्रोसॉफ्ट द्वारा अपने ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज के लिए विकसित एक प्रोग्रामिंग भाषा है।

यह 1992 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा विकसित किया गया था। विजुअल बेसिक  बेसिक  (BASIC) भाषा से बनाया गया है, बेसिक भाषा को अन्य भाषाओं की तुलना में पढ़ने में आसान कहा जाता है।

Visual Basic In Hindi

  • विजुअल बेसिक के माउस Events हिंदी में – Mouse Event In VB In Hindi
  • विजुअल बेसिक रिकर्शन हिंदी में – Recursion In VB Hindi

यह  ग्राफिकल यूजर इंटरफेस  ( GUI ) के रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट ( RAD ) का समर्थन करता है।अंतिम संस्करण 1998 में पिछली बार जारी किया गया था। माइक्रोसॉफ्ट का समर्थन मार्च 2008 में खत्म हो गया, जिसके बाद माइक्रोसॉफ्ट द्वारा  विज़ुअल बेसिक डॉटनेट (‘VB.NET’ )  का शुभारंभ किया गया।

Introduction Of Visual Basic In Hindi

  • विजुअल बेसिक ( Visual Basic ) एक Tool है जिसका उपयोग विन्डो ( Window ) Application बनाने के लिए किया जाता है । विजुअल बेसिक ( Visual Basic ) , BASIC Programming language का Extension है ।
  • दोनों में मुख्या  अंतर यह है कि ,  Visual Basic में विन्डो ( Graphical User Interface ) Application बनाने के लिए किया जाता है जबकि BASIC का उपयोग DOS Program  बनाने के लिए किया जाता है ।
  • Visual Basic Programming Language की मुख्य विशेषता यह है कि इसमें अत्यंत सुगमता से User के आवश्यकता के अनुसार आप Application का Develop कर सकते हैं । इसमें Integrated Development Environment ( IDE ) को निहित कर सकते हैं जो कि आप माऊस के माध्यम से अपने Application का विकास कर सकते हैं और साथ – साथ Keyboard के माध्यम से Code को टाइप करते हैं जो कि Execute होता है , विजुअल बेसिक ( Visual Basic ) Programming language में Built in code होते हैं।
  • जिसको programmer आसानी से handle कर सकता है । visual Basic की मुख्य Significance database handling features है ।  Database Handling सुविधा के कारण ही इस प्रोग्रामिंग भाषा का आधा application इसके माध्यम से control किया है ।
  • यह Visual Basic Programming Language का अत्यधिक built-in feature है . Visual Basic Programming Language , Internet को Access करने के लिए भी सुविधा प्रदान  करता है ।
  • Visual Basic विभिन्न प्रकार के Application Edition हैं । जैसे – Microsoft Word , Microsoft । Excel , Microsoft Access इत्यादि।

Features Of Visual Basic In Hindi

visual basic in hindi

1- Integrated Development Environment:  यह language Visual Studio का प्रयोग करते हुये Integrated Development Environmentप्रदान करता है जिसका प्रयोग GUI के लिए प्रोग्राम बनाने मे होता है। यह कई विंडो प्रदान करता है जो programs बनाने मे मदद करती है। जैसे –properties window, toolbox etc.

2- User Interface Design:  यह language user interface को design करने की सुविधा देती है। इसमे windows के लिए form डिज़ाइन करने के लिए Windows form Designer होता है जो की Toolbox की सहायता से UI design करने मे सहायता करता है।

3- Rapid Application Development:  VB.Net Rapid application Development को support करता है। इसमे user को सभी codes नहीं लिखने पड़ते। यह automatically बहुत सी coding कर देती है। जैसे form Design, events के code automatic आ जाते है।

4- Object Oriented Programming:  VB.Net Object Oriented language है। यह OOPs के सभी features को support करती है।

5- विजुअल बेसिक Object based programming language है । उदाहरण के लिए आप Application का निर्माण सीधे इसके Tools से      कर सकते हैं ।

6 – यह User को Clipboard और Printer को Access करने की अनुमति देता है ।

7-  यह Mouse और Keyboard को Responds करता है ।

8 – इसमें Powerful database access tools की सुविधा है । जिसके माध्यम से Front end database application आसानी से बना सकते हैं ।

9- इस Programming language में ActiveX technology की सुविधा है । जिसकी सहायता से दूसरे Application के सुविधाओं का भी आप उपयोग कर सकते हैं ! जैसे – MicroSoft Word , Microsoft Excel इत्यादि ।

10- इस Programming language की सहायता से आप Application  में इंटरनेट और इंट्रानेट की  सुविधाओं को  भी  Access कर सकते हैं

11- इसमें बड़ी आसानी से debugger और error – handling की जा सकती है ।

12- इस Programming language में Package Development wizard है । जिसमें आप अपने Application को बड़ी सुगमता से Distributing कर सकते हैं ।

13- इस Programming language में Array , Mathematical , String , Handling और Graphic  function का उपयोग बड़ी सरलता से किया जा सकता है ।

Programming for GUI:  इसका प्रयोग Graphical User Interface के लिए किया जाता है। यह language Windows operating system के लिए Windows Applications, Websites etc. बनाने की सुविधा देता है।

  • Debugging In Hindi

Edition of Visual Basic In Hindi

Development के आधार पर visual Basic को मुख्य तीन चरण में बांटा गया है जो इस प्रकार है –

  • Visual Basic Learning Edition ,
  • Visual Basic Professional Edition ,
  • Visual Basic Enterprise Edition.

1 . The Visual Basic Learning Edition : इस Edition में Program Microsoft Window और window NT  में Powerful Application का निर्माण कर सकता है ।

2 . The Visual Basic Professional Edition : इस Edition में Learning Edition के सारे गुणो के अलावा ActiveX controls . Internet Information Sever Application Designer , Integrated Page Designer इत्यादि को निहित किया गया है .

3 . The Visual Basic Enterprise Edition : इस Edition में Learning Edition और Professional Edition के अलावा Professional को Distributed Application बनाने की सुविधा प्रदान करता है ।

इस Edition में SQL Server , Microsoft Transaction Server , IIS , SNA Server आदि की सुविधाएँ है ।

निवेदन:-  अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share करें. तथा इस Visual Basic In Hindi   से सम्बन्धित सवाल आप comment करके पूछ है. धन्यवाद.

  • features of visual basic in hindi
  • introduction of visual basic in hindi
  • visual basic edition in hindi
  • visual basic hindi me
  • visual basic in hindi
  • what is visual basic in hindi

Nice notes tanks

Very good information Sir

9 Trackbacks / Pingbacks

  • जाने विजूअल बेसिक IDE हिंदी में - Visual Basic IDE In Hindi | VB Notes In Hindi
  • विजुअल बेसिक के सभी ऑब्जेक्ट - Visual Basic Object In Hindi
  • MsgBox & Input Box In VB हिंदी में - MsgBox And Input Box In VB In Hindi
  • विजुअल बेसिक डाटा types - Data Types Of Visual Basic In Hindi
  • जाने कंप्यूटर नेटवर्क हिंदी में - Computer Network In Hindi
  • जाने VB सबरूटीन्स हिंदी में - Subroutine In Vb In Hindi
  • विजुअल बेसिक फंक्शन हिंदी में - Function In VB In Hindi
  • विजुअल बेसिक Module हिंदी में - Modules In VB In Hindi
  • विजुअल बेसिक रिकर्शन हिंदी में - Recursion In VB Hindi

Comments are closed.

Copyright © 2024 | WordPress Theme by MH Themes

Academia.edu no longer supports Internet Explorer.

To browse Academia.edu and the wider internet faster and more securely, please take a few seconds to  upgrade your browser .

Enter the email address you signed up with and we'll email you a reset link.

  • We're Hiring!
  • Help Center

paper cover thumbnail

Tutorial: Programming in Visual Basic 6.0

Profile image of Hildo Quetz

Related Papers

International Journal of Hygiene and Environmental Health

Mercury and arsenic have been measured in urine samples and HCB, DDE and PCBs in blood samples of children from Aralsk and Akchi, Kazakhstan. Due to the special situation of Aralsk in the desert left by the drying out Aral Sea, environmental pollution with heavy metals and organic contaminants is believed to be higher than elsewhere in Kazakhstan. Aralsk was formerly located at the shore of the Aral Sea and is now far away from it. Akchi is a similar village and was included in this study as a Kazakh reference site. Urine concentrations of arsenic were higher in Akchi (9.4 microg/l) than in Aralsk (5.5 microg/l) and compared to children from Mannheim, Germany (4.25 microg/l; Median values). Regarding Hg, differences between children of Aralsk and Akchi were not significant and concentrations were lower than reference values from Germany. DDE contamination of children from Aralsk (2.48 microg/l) was significantly higher compared to Akchi (1.35 microg/l). DDE concentrations in blood samples from children in both cities were also significantly higher than the German reference value (0.7 microg/l). HCB and PCBs levels differed significantly between both Kazakh groups. However, concentrations of these compounds were lower than German reference values and there was no significant difference to samples from Mannheim children.

visual basic 6 0 tutorial in hindi

Justin Akankali

Dark brown water zone of Ibeno marine environment was assessed for pollution status using highly sensitive, calibrated portable meters. The onsite-measured parameters were pH, DO, TDS, temperature, salinity and conductivity. The results obtained were compared with standards prescribed by WHO (2008) guidelines in order to determine the quality of the water/it’s pollution status. The area that constituted the sampling points of this study is the zone on the continental shelf up to a depth of around 20meters off the shorelines. In this area salinities are much lower at around 18 psu (practical salinity unit) in comparison to other contiguous zones. The Ibeno dark brown water zone is considered the most productive water body of the entire continental shelf of the area, exhibiting the highest chlorophyllous activity. In cases of significant or extreme pollution, the physico-chemical water quality parameters measured as in this study would have generally been at extremely high levels, but...

Contributions to Mineralogy and Petrology

Mike Dorais

Abstract The Achala batholith of Argentina contains very unusual layered enclaves containing up to 30% apatite and 50% biotite in some layers. This modal mineralogy produces bulk-rock compositions that can-not represent liquids, having as little as 29% SiO2 and up to 8% ...

Occupational and Environmental Medicine

Ilene Brill

ObjectiveTo evaluate exposure–response between 1,3-butadiene, styrene and lymphohaematopoietic cancers in an updated cohort of workers at six North American plants that made synthetic rubber polymers.MethodsEmployees were followed from 1943 through 2009 to determine mortality outcomes. Cox regression analyses estimated rate ratios (RRs) and 95% CIs by quartile of cumulative exposure to butadiene or styrene, measured in parts per million-years (ppm-years), and exposure–response trends for all leukaemia, lymphoid leukaemia, myeloid leukaemia, acute myeloid leukaemia, non-Hodgkin’s lymphoma (NHL), multiple myeloma and all B-cell malignancies.ResultsAmong 21 087 workers, adjusted RRs for butadiene and all leukaemia (132 deaths) rose with increasing exposure, with an RR of 2.53 (95% CI 1.37 to 4.67) in the highest exposure quartile (≥363.64 ppm-years), and the exposure–response trend was statistically significant for all leukaemia (p=0.014) and for lymphoid leukaemia (52 deaths, p=0.007)...

DIPONEGORO MEDICAL JOURNAL (JURNAL KEDOKTERAN DIPONEGORO)

dhega wibowo

Background: Acne vulgaris (AV) is an inflammatory condition of pilosebaceous follicles that is commonly experienced in adolescents and young adults. The pathogenesis of AV is multifactorial, such as caused by inflammation and external factors of acne exposome, which have an impact on the pathogenesis of acne in the use of masks.Objective: To determine the effect of using a mask and the number of acne vulgaris on students of the Faculty of Medicine, Diponegoro University.Methods: This research is an observational type with a cross sectional design. The research subjects were 58 students of the Faculty of Medicine, Diponegoro University with an age range of 19-23 years who used masks. The data obtained are primary data from the questionnaire. The analytical test used is bivariate chi square analysis.Results: This study showed that there was no significant effect between the type of mask and the incidence of acne vulgaris p 0.610 (p>0.05), the duration of the use of masks and the in...

Chemical Physics Letters

Hoseok Park

melanie lopez

Transfusion

OMICS: A Journal of Integrative Biology

himanshu pathak

Uluslararası spor egzersiz ve antrenman bilimi dergisi

merve gezen

RELATED PAPERS

Moderat : Jurnal Ilmiah Ilmu Pemerintahan

Aan Anwar Sihabudin

Optics Communications

juan campos

Pablo Laignier

Udar Mózgu. Problemy Interdyscyplinarne

Mieszko Zagrajek

International Journal of Computer Applications

Muhammad Fairuz Fairuz

Heike Doering , Dean Stroud

REDU. Revista de Docencia Universitaria

Yexuanj Peláez

Medical Acupuncture

Irma Nareswari

Cryptogamie Mycologie

Márcia Kaffer

Jahrbuch 2018/2019 des Staatlichen Instituts für Musikforschung Preußischer Kulturbesitz hrsg, v. Simone Hohmaier. Mainz u.a.: Schott, S. 151–190

Martin Elste

  •   We're Hiring!
  •   Help Center
  • Find new research papers in:
  • Health Sciences
  • Earth Sciences
  • Cognitive Science
  • Mathematics
  • Computer Science
  • Academia ©2024

eHindiStudy

Computer Notes in Hindi

विजुअल बेसिक क्या है? – What is Visual Basic in Hindi

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस पोस्ट में What is Visual Basic in Hindi (विजुअल बेसिक क्या है और इसके फायदे) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

  • 1 Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक क्या है?
  • 2 Features of Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक की विशेषताएं
  • 3 Advantages of Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक के फायदे
  • 4 Disadvantages of visual basic – विजुअल बेसिक के नुकसान
  • 5 All Versions of Visual Basic – विजुअल बेसिक के सभी वर्शन
  • 6 Editions of Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक के एडिशन
  • 7 Visual Basic और VB.net के बीच अंतर

Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक क्या है?

Visual Basic एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसे 1991 में माइक्रोसॉफ्ट ने विकसित किया था। विजुअल बेसिक का इस्तेमाल विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की एप्लीकेशन को विकसित करने के लिए किया जाता है।

विजुअल बेसिक को windows ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए विकसित किया गया है। पहले visual basic को BASIC के नाम से जाना जाता था।

Visual Basic को शार्ट फॉर्म में VB कहा जाता है। यह एक प्रोग्रामिंग भाषा है, जिसे माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा उनके ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए develop (विकसित) किया गया है। इस भाषा का उपयोग एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर को develop करने के लिए किया जाता है।

यह भाषा प्रोग्रामर को GUI (Graphical User Interface) करती है। इस भाषा को कंप्यूटर की third generation के दौरान विकसित किया गया था। कंप्यूटर की third generation के दौरान बहुत सी प्रोग्रामिंग भाषाओ को विकसित किया गया था, जिनमे COBOL, FORTRAN जैसी भाषाए शामिल थी।

लेकिन इन भाषाओ को सिखना और समझना किसी भी यूजर के लिए मुश्किल होता था, इसलिए वर्ष 1964 मे Thomas Kurtz और Denis Ritchi के द्वारा एक प्रोग्रामिंग भाषा को विकसित किया गया जिसका नाम BASIC (Beginners All Purpose Symbolic Instruction Code) रखा गया।

जिस समय माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम को लांच किया था, ठीक उसी समय Windows Programming के लिए BASIC भाषा के नए वर्शन को भी लांच कर दिया गया था , जिसका नाम Visual Basic रखा गया।

इस भाषा का syntax काफी सरल है जिसकी वजह से इस भाषा को सिखना और समझना काफी आसान है और इस भाषा में यूजर या developer अपनी इच्छा के अनुसार एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर को create कर सकता है।

Features of Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक की विशेषताएं

इसकी विशेषताएं निम्नलिखित होती हैं:-

1:- यह एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जो OOPS के सभी Features को Support करती है।

2:- यह भाषा user interface डिज़ाइन करने में मदद करती है। 

3:- इस भाषा में यूजर को application का निर्माण करने के लिया ज्यादा कोड नहीं लिखना पड़ता।

4:- यह भाषा visual studio का उपयोग करके developer को integrated development environment प्रदान करती है। 

5:- विजुअल बेसिक एक object पर आधारित प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमें यूजर tools का इस्तेमाल करके एप्लीकेशन को डिज़ाइन कर सकता है।

6:- इस लैंग्वेज में एक शक्तिशाली data access टूल होता है जिसके द्वारा यूजर front end database का निर्माण कर सकता है।

7:- इस भाषा में यूजर को auto complete का फीचर मिलता है जिसकी मदद से यूजर को पूरा कोड लिखने की ज़रूरत नहीं पड़ती , कोड अपने-आप complete (पूरा) हो जाता है।

8:- इसका प्रयोग Graphical User Interface के लिये भी किया जाता है।

9:- इस लैंग्वेज में एक ऐसा फीचर होता है जो Programs को अपने-आप Compile कर देता है।

10:- इसमें एक कोड एडिटर होता है जो खुद ही Syntax Error को check करके error (गलतियों) को दिखा देता है।

11:- यह भाषा developer और user की मदद ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीको से करती है।

  • VB.net क्या है?
  • C-sharp क्या है?

Advantages of Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक के फायदे

विजुअल बेसिक के फायदे नीचे दिए गये हैं:-

1- विजुअल बेसिक का syntax काफी सरल होता है जिसकी वजह से इस भाषा को सिखना और समझना आसान होता है।

2- इस भाषा के कोड को execute करना आसान होता है।

3- इस भाषा के टूल्स का उपयोग करना काफी आसान होता है।

4- इस Programing Language का Structure बहुत ही आसान है।

5- यह भाषा Online और Offline दोनों तरीको से Developers की मदद करती है।

6- इस भाषा में debugging करना आसान होता है।

7- visual basic में error को detect करना आसान होता है।

इसे पढ़ें :- कंप्यूटर लैंग्वेज क्या है और इसके प्रकार

Disadvantages of visual basic – विजुअल बेसिक के नुकसान

1- चूँकि विजुअल बेसिकको माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा विकसित किया गया है इसलिए इस भाषा को Microsoft ऑपरेटिंग सिस्टम के अलावा किसी और ऑपरेटिंग सिस्टम पर ट्रान्सफर करना आसान नहीं है।

All Versions of Visual Basic – विजुअल बेसिक के सभी वर्शन

1- visual basic 1.0 (window).

यह visual basic का पहला वर्शन है जिसे माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा वर्ष 1991 में लॉच किया गया था। इस वर्शन में एप्लीकेशन को डिज़ाइन करने के लिए पहले एक यूजर इंटरफ़ेस बनाया जाता था उसके बाद कोड को add किया जाता था।

इस वर्शन का उपयोग ज्यादातर business application बनाने के लिए किया जाता था। इस वर्शन को जॉर्जिया के Atlanta मे (Comdex/Windows World Trade Show) के दौरान लांच किया गया था।

2 – Visual Basic 1.0 (DOS)

इस वर्शन को माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा वर्ष 1992 में लॉच किया गया था। माइक्रोसॉफ्ट के इस वर्शन का इस्तेमाल GUI (Graphical User Interface) के Appearance को Simulate करने के लिए किया जाता था।

यह वर्शन यूजर इंटरफ़ेस को कण्ट्रोल करने में मदद करता है। इस वर्शन में Button, Text Box, Checkbox, Combo Box, List जैसे कॉम्पोनेन्ट शामिल है। 

3 – Visual Basic 2.0 (windows)

इस वर्शन को नवंबर 1992 में लांच किया गया था। यह विजुअल बेसिकका तीसरा वर्शन था। यह वर्शन Visual Basic 1.0 (DOS) और Visual Basic 1.0 (window) की तुलना में काफी सरल और तेज था।

4 – Visual Basic 3.0 (windows)

यह एक Standard और Professional Version था। इस वर्शन को माइक्रोसॉफ्ट ने वर्ष 1993 में लांच किया था। इस Version मे Microsoft ने Jet Database Engine को add किया था। Visual Basic 3.0 वर्शन exe files को Create करने में सक्षम नहीं था।

5 – Visual Basic 4.0 (window)

इस वर्शन को वर्ष 1995 में लॉच किया गया था। इस वर्शन का उपयोग 32-bit Application और 16-bit के Windows Program को Develop करने के लिए किया जाता था। इसके अलावा Visual Basic 4.0 का उपयोग non-GUI Classes को लिखने के लिए किया जाता था।

6 – Visual Basic 5.0 (Windows)

विजुअल बेसिकके इस वर्शन को windows के 32-bit Version के लिए launch किया गया था। Visual Basic 5.0  को वर्ष 1997 में लांच किया गया था।

7 – Visual Basic 6.0 (windows)

इस वर्शन को माइक्रोसॉफ्ट ने वर्ष 1998 में लांच किया था। इस वर्शन में कुछ नए फीचर्स को add किया गया था, जिनकी मदद से यूजर इस वर्शन में Web Based Application को डिज़ाइन कर सकता था।

Editions of Visual Basic in Hindi – विजुअल बेसिक के एडिशन

1 – visual basic learning edition.

इस Edition की मदद से प्रोग्रामर Microsoft Window और Windows NT मे शानदार एप्लीकेशन का निर्माण कर सकता है।

2 – Visual Basic Professional Edition

इस Edition मे Learning edition के Features के अलावा Active X Controls, Internet Information Server, Application Designer और Integrated Page Designing का काम किया जाता है।

3 – Visual Basic Enterprise Edition

विजुअल बेसिक के इस Edition मे Learning और Professional Edition के अलावा Professional और Distributed Application को बनाने का फीचर भी उपलब्ध है। इस Edition मे यूजर को SQL Server और Microsoft Transaction Server जैसे फीचर मिल जाते है।

Visual Basic और VB.net के बीच अंतर

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न.

यह event-driven प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल windows के लिए एप्लीकेशन बनाने के लिए किया जाता है.

इसके तीन एडिशन हैं:- learning, professional और enterprise.

visual basic in Hindi

Reference :- https://www.techtarget.com/whatis/definition/Visual-Basic-VB

निवेदन :- अगर आपके लिए What is Visual Basic in Hindi ( विजुअल बेसिक क्या है और इसके फायदे, नुकसान) का यह पोस्ट उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

2 thoughts on “विजुअल बेसिक क्या है? – What is Visual Basic in Hindi”

kya ap employability skills pe notes bna skte hai

Abhi employability skills ke notes available nahi hai.

Leave a Comment Cancel reply

eHindiLearning

Visual Basics in Hindi – विजुअल बेसिक क्या है?

Hello  दोस्तों ehindilearning.com मे आपका स्वागत है आज के इस Article मे हम  What is Visual Basic in Hindi  के बारे मे विस्तार से जानेंगे।

What is Visual Basic in Hindi

Visual Basic  एक Programming Language है जिसको Microsoft के द्वारा उनके Operating System के लिए Develop किया गया था। Computer की Third Generation के दौरान बहुत सारी Programming Languages को Develop किया गया था जिनमे COBOL, FORTRAN जैसी कुछ महत्वपूर्ण Language थी लेकिन ये Programing सीखने वाले लोगों के लिए बहुत कठिन Language थी।

इस समस्या को दूर करने के लिए  सन 1964  मे  Thomas Kurtz  और  Denis Ritchi  ने एक नई Programming Language को Develop किया जिस Language को  Basic  (Beginners All Purpose Symbolic Instruction Code) था। यह उन सभी लोगों के लिए बहुत Helpful था जो लोग Programming सीखना चाहते थे। इस Language का प्रयोग Microsoft के लिए DOS Operating System बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था।

जब Microsoft के द्वारा Windows Operating System को Launch किया गया उसके बाद Windows Programming के लिए BASIC का Visual Version को बनाया गए जिसे Visual Basic नाम दिया गया। इसके Windows मे Programming करने के लिए सभी आवश्यक Tools को Provide किया गया था।

यह Programming Language समझने के लिए बहुत आसान Language है अगर कोई व्यक्ति Programming सीखना चाहता है तो यह Programming Language उसके लिए बहुत Helpful रहेगी। इसमे आसानी से Applications को Develop किया जा सकता है। Visual Basic को अक्सर हम  VB  भी कहते है।

VB व्यापक रूप से समझी जाने वाली एक High-Level Programming Language है जिसको साधारण English जैसे शब्दों और Syntax का इस्तेमाल करके लिखा गया है। यह एक Interpreted Language है जिसे लिखे जाने के तुरंत बाद ही Run किया जा सकता है। Interpreter का इस्तेमाल करके आप इस Language को आसानी से Use कर सकते है इस Language को Compile करने के लिए आपको Computer की आवश्यकता नहीं होती है।

इसके Compiled Version को Run करने के लिए आपको पहले आपको इसमे Error को ढूंढकर Fix करना पड़ेगा एक बार जब यह Run करने लग जाता है तब इसे  . exe  File मे Compile किया जा सकता है जिससे कि इसको सभों आधुनिक Windows Computers पर चलाया जा सके चाहे उन Computers मे VB को Install किया गया हो या नहीं।

All Versions of Visual Basic in Hindi

Also Read:-  What is Virtual Machine in Hindi – वर्चुअल मशीन के बारे मे पूरी जानकारी…

Features of Visual Basic in Hindi

Object Oriented Programming:-  Visual Basic एक Object Oriented Programing Language है जो OOPs के सभी Features को Support करती है।

User Interface Design :-  यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज User Interface को Design करने का Feature भी देती है।

Rapid Application Development :-  विजुअल बेसिक Rapid Application Development को Support करती है इसमे Developer को सारी Coding खुद नहीं करनी पड़ती है बल्कि कुछ Coding इसमे Automatically हो जाती है।

Help System :-  यह Developer को Online और Offline दोनों प्रकार से Help प्रदान करती है।

Auto Syntax Check :-  इसका कोड एडिटर खुद ही Syntax Error को check करके error दिखा देता है।

Auto   Help :-  अगर आपको इसमे काम करते समय कोई Error आ जाता है तो उस Error को सुधारने मे Help भी करता है।

Auto Compile :-  यह Programs को Automatically Compile कर देता है।

Programing of GUI :-  इसका प्रयोग Graphical User Interface के लिये भी किया जाता है।

Integrated Development Design :-  Visual Studio डेवलपर को Integrated Development Environment प्रदान करता है।

Auto Complete :-  इसमे आपको Auto Complete का Feature भी मिलता है जिसकी मदद से जब आप कोई Code लिखते है तो यह खुद ही Complete हो जाता है।

Benefits of Visual Basics in Hindi

जैसा की हम शुरुआत मे ही जान चुके है कि इस Programing Language को BASIC से Derive किया गया है जिसका मतलब है कि इस Language के साथ काम करना Simple और easy होता है Specially जब आप exe files को लिखते है।

अगर कोई Developer इस Language को Microsoft की COM Interface के साथ इस्तेमाल करता है तो यह और भी ज्यादा Beneficial हो जाती है।

COM Components को Various Languages मे लिखा जा सकता है और इनको Visual Basic मे Integrate किया जा सकता है। यह सिर्फ Programing Language ही नहीं है बल्कि यह Developers के लिए Integrated Development Environment (IDE) भी प्रदान करती है।

यह Language प्रोग्रामर्स को GUIs आसानी से Built करने का Feature भी प्रदान करती है और बाद मे उन Functions को आसानी से Application के साथ Connect किया जा सकता है।

Editions of Visual Basic in Hindi

इसको तीन भागों मे बाटा गया है:-

1:- Visual Basic Learning Edition

2:- Visual Basic Professional Edition

3:- Visual Basic Enterprise Edition

Visual Basic Learning Edition :-  इस Edition मे प्रोग्रामर Microsoft Window और Windows NT मे Powerful Application का निर्माण कर सकता है।

Visual Basic Professional Edition :-  इस Edition मे Learning edition के सारे Features के अलावा Active X Controls, Internet Information Server, Application Designer और Integrated Page Designing का काम किया जाता है।

Visual Basic Enterprise Edition :-  इस Edition मे Learning और Professional Edition के अलावा Professional और Distributed Application को बनाने का Feature भी उपलब्ध है। इस Edition मे आपको SQL Server, Microsoft Transaction Server जैसे Feature मिलते है।

Also Read:-  What is Python Programming Language in Hindi – पाइथन लैंग्वेज…

Advantages of Visual Basic in Hindi

  • इस Programing Language का Structure बहुत ही आसान है।
  • यह सिर्फ Programing Language ही नहीं है बल्कि यह Developers के लिए Interactive Development Environment (IDE) भी प्रदान करता है।
  • यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज Rapid Application Development को Support करती है।
  • यह Online और Offline दोनों तरह से Developers को Help प्रदान करती है।
  • यह एक Component Integration Language है जो कि Microsoft के Component Object Model (COM) से संबंधित है।
  • COM Components को किसी भी Language मे लिखा जा सकता है और बाद मे इसको Visual Basic के साथ Integrate किया जा सकता है।

Disadvantages of Visual Basic in Hindi

  • क्योंकि Visual Basic Programing Language को Microsoft के द्वारा Develop किया गया है इसलिए इसको Microsoft Operating System के अलावा किसी और Operating System पर Transfer करना आसान नहीं है।

आज के इस article के माध्यम से हमने आज के  विजुअल बेसिक क्या है?   के बारे मे विस्तार से जाना। आशा है कि यह article आपके लिए helpful रहा होगा। अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए।

आप हमे comment के माध्यम से सुझाव दे सकते है। आप हमे email के माध्यम से follow भी कर सकते है जिससे कि हमारी नई article की जानकारी आप तक सबसे पहले पहुचे आप email के माध्यम से हमसे question भी पूछ सकते है।    

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

visual basic 6 0 tutorial in hindi

Visual Basic 6 Tutorial

Vb introduction.

Visual Basic, a third-generation programming language, renowned for its user-friendly interface, was first unveiled by Microsoft in 1991, reaching its pinnacle with VB 6.0 before the advent of VB.NET. This language is an excellent entry point for beginners, offering a seamless experience in crafting GUI window applications. Visual Basic 6 Tutorial features forty straightforward lessons and a plethora of sample codes , paving the way for effortless mastery of VB programming. Furthermore, Visual Basic 6 serves as the foundational language for coding VBA, the programming language that allows user to develop macros for Microsoft Office apps such as MS Excel, MS Words, MS Powerpoint and more. Therefore, you might want to check out our Excel VBA macro programming Tutorial . If you need Visual Basic assignment help and solutions from programming experts, visit https://assignmentcore.com/visual-basic-homework/ immediately.

Visual Basic 6 Made Easy

This book is authored by our tutor, Dr.Liew . It was used as a textbook by the University of Wesleyan . Besides that, this book has been used in high school and university computer science courses all over the world. You can certainly use it for your VB projects reference text. Based on this book, you can also write reviews using educational service .

Preview the book .

Popular VB Books authored by Dr.Liew on Amazon

Visual Basic 2022

Copyright©2008 Dr.Liew Voon Kiong. All rights reserved | Contact | Privacy Policy

XDA Developers

How to install Visual Basic 6.0 in Windows 11

V isual Basic 6 (VB6), introduced in 1998, marked a significant development in programming languages, especially for Windows applications. Although it has evolved and been integrated into Visual Studio .NET, later succeeded by Visual Basic for Applications (VBA) and the broader Visual Studio .NET framework, VB6 still holds a special place for programmers. Its enduring popularity is owed to its user-friendly GUI, ease of use, and exceptional capabilities for rapid application development, making it a preferred choice for many developers even today.

The compatibility of VB6 with Windows 10 reassured many developers, and Microsoft's confirmation that the VB6 runtime will be supported in Windows 11 for its lifetime keeps it relevant. Users and developers find solace in this support, ensuring that their legacy applications and developmental skills remain applicable in a modern OS environment. In this guide, we will learn how to install and run the software with compatibility mode in Windows 11.

What is Visual Basic 6.0?

Visual Basic 6.0 is a user-friendly programming language by Microsoft notable for its simplicity and effectiveness in developing Windows applications. Designed with an easy-to-learn approach, VB6 allows programmers to create simple and complex applications, strongly in building graphical user interfaces in particular.

It stands out for its ability to integrate user-designed components and its compatibility with Windows operating systems. VB6 supports creating various software types, including desktop applications and system utilities. Despite being replaced by newer technologies, VB6 is still relevant for maintaining legacy systems and is supported by Microsoft on modern Windows versions, ensuring its continued usability in certain programming scenarios.

Why install Visual Basic 6.0 on Windows 11?

Installing Visual Basic 6.0 on Windows 11 is driven by the need to support and maintain existing applications that were originally developed using VB6. This is especially important in sectors where legacy systems are integral and cannot be easily replaced or upgraded. This support allows organizations and individual developers to transition to Windows 11 without losing the functionality of essential VB6-based software. The continued viability of VB6 on Windows 11 is crucial for those who rely on its straightforward, efficient programming capabilities for specific projects and applications.

How to install Visual Basic 6 on Windows 11?

  • Open the installation folder and look for the configuration file named SETUPWIZ.
  • Locate the line VmPath=ie4\msjavx86.exe and erase the section after the = symbol. Close
  • Save and close the file.
  • Locate the application named, SETUP within the installation folder and right-click on it, then click Troubleshoot compatibility .
  • Click on Yes in the popup and select None of the above from the next list. Close
  • After Windows is done with the required troubleshooting, you will be presented with the option to apply the recommended settings or not. Click on Yes .
  • Click on Next in the following pop-up.
  • Accept the agreement in this step.
  • Put in the product ID number, which you will find with your installation media, then click on Next .
  • Choose Custom from the Setup Options and click on Next .
  • Choose your desired file path in this section, then click on Next .
  • Click on Continue on this popup.
  • Click on OK .
  • If you had a previous installation of VB6, you will get this popup, click on Yes .
  • Make sure all the items highlighted in this section are unchecked .
  • Select Microsoft Visual C++ 6.0 and click on Change Option .
  • Select VC++ MFC and Template Libraries and click on Change Option .
  • Select MS Foundation Class Libraries and click on Change Option .
  • Make sure all the items here are checked by clicking on the Select All option .
  • Go back to the first screen, select Data Access, and click on Change Option .
  • Uncheck ADO, RDS, and OLE DB Providers leave the rest of the settings unchanged .
  • Return to the first screen, select Enterprise Tools, and click on Change Option .
  • Uncheck Visual Studio Analyzer , click on OK and return to the first screen.
  • Click on Continue .
  • Leave the Register Environment Variables unchecked and click on OK .
  • Let the process be completed.
  • Click on Restart Windows .
  • Once your system has booted back on, you will be greeted by an error box stating the program might not have been installed correctly. Click on This program was installed correctly .

The file path might be different for you, depending on what you choose while installing Visual Basic.

Make sure you change the settings for all the applications which have been highlighted.

  • After these settings have been applied, look for Microsoft Visual Basic 6.0 using the Windows search function and open its file location .
  • Ensure that the settings are as shown in the picture.
  • Return to the previous screen and open file location for Microsoft Visual Basic 6.0.
  • Change compatibility settings for VB6 .
  • After all these steps, you can now launch Microsoft Visual Basic 6.0 .

Windows 11’s compatibility with Visual Basic 6

With Visual Basic 6.0 now ready to use on Windows 11, you are well-equipped to manage both contemporary and legacy projects. This successful installation is a testament to Windows 11’s versatility in accommodating a diverse range of software applications. As you embark on this journey, the right hardware can be just as crucial as the right software. For those looking to optimize their programming experience further, you can always upgrade to a laptop most suited for programming .

How to install Visual Basic 6.0 in Windows 11

VISUAL BASIC 6.0 MCQ-1

Welcome To CSE Study247 , Today I am provide you VISUAL BASIC 6.0 MCQ-1. That is very useful for Computer Science Students.

Q.1 Visual basic is a tool that allow you to develop application in

Q.2 Visual Basic is developed by:

Q.2 Visual Basic was first introduced in

Q.4 In visual basic ______ is the extension to represent project file.

Q.5 Father of visual basic 6.0 ?

Q.6 Which country developed visual basic 6.0 ?

Q.7 Visual basic is the —— event driven programming langauge ?

Q.8 Visual basic 2.0 launched in

Q.9 Visual basic 3.0 launched in

Q.10 Visual basic 4.0 launched in

Q.11 Visual basic 5.0 launched in

Q.12 Visual basic 6.0 launched in

Q.13 Which of the following version of visual basic support 32 bit system

Q.14 Features of visual basic 6.0

Q.15 ______ is used for finding out about objects, properties and method

Q.16 Which window displays a list of all forms and modules making up your application.

Q.17 The default property of a text for control is

Q.18 ______ is a collection of files.

Q.19 In ______ window we can write code.

Q.20 Which window shows information that results from debugging statements in our code.

Related Link

Automated page speed optimizations for fast site performance

IMAGES

  1. visual basic 6.0 best videos in hindi for students and beginners

    visual basic 6 0 tutorial in hindi

  2. VISUAL BASIC 6.0 in hindi, vb 6.0 programs, vb 6.0 complete tutorial

    visual basic 6 0 tutorial in hindi

  3. Visual Basic 6.0 Tutorial in Urdu Lesson 17

    visual basic 6 0 tutorial in hindi

  4. How to download and install Visual Basic in HINDI Full Version!! विसुअल बेसिक इनस्टॉल करे!

    visual basic 6 0 tutorial in hindi

  5. Visual Basic 6.0 Practical tutorial

    visual basic 6 0 tutorial in hindi

  6. VB6 Tutorial In Urdu

    visual basic 6 0 tutorial in hindi

VIDEO

  1. Visual basic 6.0

  2. Microsoft Visual Basic 6.0

  3. My Visual Basic 6.0 Projec t

  4. Visual Basic

  5. Lecture -1 Function in visual basic 6.0

  6. Learn Visual Basic #24- Sub

COMMENTS

  1. Video 1 Your First Program in Visual Basic 6.0 (Hindi)

    Video 1 Your First Program in Visual Basic 6.0 (Hindi) Dr. Ritesh Verma 6.45K subscribers Subscribe Subscribed 4.8K 231K views 3 years ago Microsoft Visual Basic 6.0 Visual...

  2. microsoft visual basic 6.0/IDE tools/ introduction tutorial in hindi

    hello dosto aaj ki es video me hum aap logo ko batane wale hai (visual basic 6.0 ) introduction ,IDE tools ke bare me.....dhanybad🙏अपने भाई...

  3. Visual Basic 6.0 full tutorial in hindi

    Visual Basic 6.0 full tutorial in hindi | Menu bars, Project Explore in VB6 by @code with aneeshpdf link--https://drive.google.com/file/d/1FKFXYk-QQBXveBgBYN...

  4. PDF VB6 in Hindi

    Although Visual Basic 6 is Out of Market now, but Microsoft is still using the Core Concepts of Visual Basic 6 in Modern Programming Languages named . C#.NET. and . VB.NET. So, if you want to learn Visual C# or VB.NET, you will get Good Benefit from this eBook to understand Microsoft's Event Driven Programming Model.

  5. VISUAL BASIC 6.0 in hindi, vb 6.0 programs, vb 6.0 complete tutorial

    VISUAL BASIC 6.0 in hindi, vb 6.0 programs, vb 6.0 complete tutorial VISUAL BASIC 6.0 Visual Basic Language और Environment का परिचय VB 6.0 HOW TO ADD SUB MUL AND DIV PROGRAM IN HINDI , विसुअल बेसिक 6.0 में जोड़ने घटाने गुणा भाग का प्रोग्राम

  6. Visual Basic क्या है? Visual Basic के बारें में विस्तार से जानिए?

    दोनों में मुख्या अंतर यह है कि , Visual Basic में विन्डो ( Graphical User Interface ) Application बनाने के लिए किया जाता है जबकि BASIC का उपयोग DOS Program बनाने के लिए किया जाता ...

  7. VB.net क्या है? VB.net का कार्यप्रणाली सबकुछ विस्तार से जानिए?

    दोस्तों नमस्कार, हमारे पिछले आर्टिकल में हमने आपको Visual Basic के बारे में विस्तार से बताया था,आज हम उसी से जुडी या ये कहें की उसी का Upgrade Version कही जाने वाली VB.Net ...

  8. Visual Basic 6 Tutorial

    Visual Basic 6 Tutorial Enter Tutorial Visual Basic, a third-generation programming language, renowned for its user-friendly interface, was first unveiled by Microsoft in 1991, reaching its pinnacle with VB 6.0 before the advent of VB.NET.

  9. Learn Visual Basic for Applications in Hindi

    Learn Visual Basic for Applications in Hindi | VBA in Hindi Excel VBA (Visual Basic for Applications) and Excel Macros 2.8 (33 ratings) 792 students Created by Saurabh Kumar Shrivastav Last updated 9/2017 Hindi What you'll learn

  10. Visual Basic 6

    Visual Basic 6 - Hindi Notes PDF | PDF | Integrated Development Environment | Visual Basic For Applications Visual+Basic+6+-+Hindi+Notes.pdf - Free download as PDF File (.pdf), Text File (.txt) or read online for free.

  11. क्‍यों ठीक से सीखना जरूरी है Visual Basic?

    VB6 in Hindi: Visual Basic 6 एक बहुत ही सरल Programming Language है क्‍योंकि इस Programming Language में दुनियां के सबसे ज्‍यादा Professional GUI Desktop Application Software Develop किए गए हैं और अगर हम ये कहें कि दु‍नियां के ...

  12. Visual basic 6.0 me program kaise banaye ??

    Visual Basic 6 .0 tutorial in hindiHow to run simple program in visual Basic

  13. Visual Basic In Hindi -जाने Visual Basic क्या है हिंदी में

    Features Of Visual Basic In Hindi. Visual Basic In Hindi. 1- Integrated Development Environment: यह language Visual Studio का प्रयोग करते हुये Integrated Development Environmentप्रदान करता है जिसका प्रयोग GUI के लिए प्रोग्राम ...

  14. Tutorial: Programming in Visual Basic 6.0

    This will consist of a menu structure with headings that will let you access the many exercises and examples you complete. Activity 1 • Open VisualBasic 6.0 • Use the file menu to open a new project with a blank form. • Use the properties window to set - Main.frm as the form name. - My programs as the caption.

  15. विजुअल बेसिक क्या है?

    टॉपिक 1 Visual Basic in Hindi - विजुअल बेसिक क्या है? 2 Features of Visual Basic in Hindi - विजुअल बेसिक की विशेषताएं 3 Advantages of Visual Basic in Hindi - विजुअल बेसिक के फायदे 4 Disadvantages of visual basic - विजुअल बेसिक के नुकसान 5 All Versions of Visual Basic - विजुअल बेसिक के सभी वर्शन

  16. Visual Basics in Hindi

    What is Visual Basic in Hindi. Visual Basic एक Programming Language है जिसको Microsoft के द्वारा उनके Operating System के लिए Develop किया गया था। Computer की Third Generation के दौरान बहुत सारी Programming Languages को Develop ...

  17. visual basic 6.0 tutorial in hindi

    visual basic 6.0 tutorial in hindi vermag services 18 videos 38,437 views Last updated on May 13, 2022 Play all Shuffle All Videos Shorts 1 7:00 microsoft visual basic 6.0/IDE...

  18. VB6

    View Details. Request a review. Learn more

  19. PDF Visual Basic 6.0 Made Easy

    Upon start up, Visual Basic 6.0 will display the following dialog box as shown in Figure 1.1. You can choose to start a new project, open an existing project or select a list of recently opened programs. A project is a collection of files that make up your application. There are various types of applications that can be created; however, we

  20. Visual Basic 6 Tutorial

    Visual Basic, a third-generation programming language, renowned for its user-friendly interface, was first unveiled by Microsoft in 1991, reaching its pinnacle with VB 6.0 before the advent of VB.NET. This language is an excellent entry point for beginners, offering a seamless experience in crafting GUI window applications.

  21. How to install Visual Basic 6.0 in Windows 11

    Visual Basic 6.0 is a user-friendly programming language by Microsoft notable for its simplicity and effectiveness in developing Windows applications. Designed with an easy-to-learn approach, VB6 ...

  22. Complete VB net Programming with Project Development in Hindi, Visual

    👉Join Telegram: https://t.me/SarkarStudyWaves👉For Discussion- https://t.me/ssw_edu_discussion👉App Link- https://play.google.com/store/apps/details?id=co....

  23. VISUAL BASIC 6.0 MCQ-1

    Welcome To CSE Study247 , Today I am provide you VISUAL BASIC 6.0 MCQ-1. That is very useful for Computer Science Students. Q.1 Visual basic is a tool that allow you to develop application in. Q.4 In visual basic ______ is the extension to represent project file. Q.5 Father of visual basic 6.0 ?

  24. Input box function

    Input box function - Visual basic 6.0 | Visual basic tutorial in hindi | VB 6 Tutorial Self Adhyan Guruji 101K subscribers Join Subscribe Subscribed 203 16K views 5 years ago...